php training in lucknow

PHP लैंग्वेज पढ़ने के बहुत फायदे हैं | PHP एक ऐसी भाषा है जिससे हम सॉफ्टवेयर और वेबसाइट दोनों बना सकते हैं | यदि हम PHP सीखते हैं तो हमारे भविष्य के लिए ये एक अच्छा फैसला होगा | PHP से हम किसी भी तरह के फ्रॉंटेंड को डेटाबेस से जोड़ सकते हैं जो सामान्यतः MySQL होता है | PHP एक ऐसी लैंग्वेज है जिसमे हम फ्रॉंटेंड यानी यूजर इंटरफ़ेस को बैकेंड के डाटाबेस से जोड़ते हैं | किसी भी ऑनलाइन वेब एप्लीकेशन या वेबसाइट में ५ लैंग्वेज का इस्तेमाल होता है जो निम्न हैं –

  • HTML हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज : किसी भोई यूजर इंटरफ़ेस का स्ट्रक्चर बनाने में प्रयोग होती है
  • CSS कैस्केडिंग स्टाइल शीट : किसी भी यूजर इंटरफ़ेस की डिज़ाइन और स्टाइल को बनाने म उसे होती है
  • Js – जावा स्क्रिप्ट : किसी भी यूजर इंटरफ़ेस में होने वाले एनीमेशन एवं थर्ड पार्टी अप्लीकेशन चलने में काम आती है
  • PHP – हाइपरटेक्स्ट प्री प्रोसेसर : किसी भी यूजर की क्वेरी को डेटाबेस तक ले जाना एवं उसके रिस्पांस में आउटपुट लाने का कार्य करती है |
  • MySQL : माय स्ट्रक्चर्ड क्वेरी लैंग्वेज

PHP से हम निम्न सॉफ्टवेयर बना सकते हैं –

  • हॉस्पिटल मैनेजमेंट- किसी भी अस्पताल में आने वाले व्यक्ति या मरीज़ के सिंगल पॉइंट डाटा एंट्री बना के पूरे हॉस्पिटल में उसकी जानकारी पहुंचा देना , डॉक्टर्स डैशबोर्ड जहा सारे डॉक्टर्स अपना अपॉइंटमेंट देख सके | एडमिन डैशबोर्ड जहा से सारे डिपार्टमेंट को मैनेज किआ जा सकता है |  पेशेंट डैशबोर्ड जहा पेशेंट बुकिंग कर सके एवं अपनी रिपोर्ट्स देख सके |

 

  • इन्वेंटरी मैनेजमेंट : किसी भी डिपाटमेंट स्टोर में कितना सामान आया एवं कितनी बिक्री हुई इन सबका एक सिंपल से डैशबोर्ड पर उल्लेख इसमें बनता है | इसमें आइटम जोड़ने का, मॉडिफाई करने का, और उसकी जानकारी को दिखने के लिए एक प्लेटफार्म बनाया जाता है |

 

  • स्कूल मैनेजमेंट सिस्टम : स्कूल मैनेजमेंट सिस्टम में बहुत तरह के डैशबोर्ड बनते हैं जैसे फीस मैनेजमेंट, स्टूडेंट डेटाबेस, स्टाफ मैनेजमेंट , ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट , इत्यादि |

इसी प्रकार से हम PHP में बहुत सारे ऍप्लिकेशन्स और वेब्सीटेस बन सकते हैं |यदि हम PHP सीखते हैं तो हमे भविष्य में भट्ट सफलता मिलने की आशंका है |